मार-काट करेंगे तो उनकी आरती नहीं उतारी जाएगी

0
18

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को विधानसभा में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों को चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि 12-15 लोग तलवार लेकर आएंगे मार-काट करेंगे तो उनकी आरती नहीं उतारी जाएगी। आगजनी और तोड़फोड़ करके कानून हाथ में लेने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएगी। नोट कर लें गलतफहमी है तो दिमाग से निकाल दें, कयामत का दिन कभी नहीं आने वाला।

विधानसभा में बजट पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार सबका विकास करेगी, लेकिन तुष्टीकरण किसी का नहीं करेगी। सभी अपनी परंपराओं के अनुसार त्योहार मनाएं, लेकिन दूसरों के मामलों में दखल देंगे तो खामियाजा भुगतना पड़ेगा। पिछली सरकार में पुलिस लाइन में जन्माष्टमी नहीं मनाई जाती थी, कांवड़ यात्रा में डीजे नहीं बजा सकते थे। हमने दोनों परंपराओं को लागू किया।

पिछली सरकार में हिंदू आस्था के साथ खिलवाड़ होता था, उन्हें चिढ़ाया जाता था। पिछली सरकार को कांवड़ लाने वाले शिवभक्तों की ड्रेस से चिढ़ थी। लेकिन अब हरिद्वार से गाजियाबाद तक चार करोड़ श्रद्धालु कांवड़ लेकर निकलते हैं। अयोध्या में दीपोत्सव में 5.50 लाख श्रद्धालु शामिल हुए, मथुरा में रंगोत्सव में लाखों लोग शमिल हुए। कुंभ में 25 करोड़ लोगों ने भागीदारी की। माघ मेले में ढाई से तीन करोड़ श्रद्धालु शामिल हुए पर इन आयोजनों में किसी के साथ भेदभाव नहीं किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here