मोदी जी पेट नहीं भरेगा तो कोरोना से कैसे लड़ेंगे?

0
53

नई दिल्ली कोरोना के कहर से लोगों का जीवन अस्तव्यस्त हो गया है एक तरफ देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा रोजमर्रा का सामान साग सब्जी की दुकान बंद नहीं होंगे तो दूसरी तरफ पुलिस वाले एक जगह पर इकट्ठा होने वाले लोगों को भगा रहे हैं दुकानों को लगने नहीं दे रहे हैं बाजारों को बंद करवा रहे हैं तो सवाल यह है कि लोग अपने घरों का खर्च कहां से और कैसे चलाएं यही आलम इस समय पूरे देश में है।

कोरोना से सबको बचना है दूसरों को बचाना है कोरोना फैले नहीं इसके लिए रात-दिन काम करना है लेकिन सवाल यह है कैसे जब घर का खर्च ही नहीं चलेगा पेट नहींं भरेगा तो कोरोना से कैसे लड़ेंगे?

फरीदाबाद का आलम ऐसा है कि पुलिस वाले एक भी जगह पर सब्जी की दुकान नहीं लगने दे रहे हैं लोगों को इकट्ठे नहीं होने दे रहे हैं ठीक है यह सब जायज है ताकि तो रोना को सफलतापूर्वक रुक आ जाए लेकिन क्या सरकार ने इसके लिए कोई इंतजाम भी किया है? क्या सरकार ने ऐसी कोई जगह निर्धारित की है जहां से लोग अपने रोजमर्रा का सामान खरीद सकें? उत्तर है नहीं तो आखिर लोग करें तो करें क्या।

आलम यह है कि अगर कोई खेले वाला सब्जी लेकर दिख जाए तो पूरी पब्लिक उसी पर टूट पड़ती है नतीजतन या तो सब्जी 5 गुना ज्यादा महंगे रेट पर मिलने लगती है या फिर सब्जी बेचने वाला अपना खेला लूटने के चक्कर में भाग जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here