न’बी ने कहा, घर में अगर शौहर हो तो यह एक काम करने से पहले बीवी को उसकी इजा’जत लेनी होगी

0
1580

खु’दा ने शौहर बीवी के रिश्ते को बहुत ही अफ़ ज़ल बनाया है और सभी रिश्ते से इस रिश्ते को खास मुकाम दिया है। खु’दा ने शौहर वा बीवी दोनों के अलग अलग मुकुट दिया है ताकि कोई भी एक दूसरे के साथ ना इंसाफी ना करें। खु’दा बेहद रहमान और रहीम है खु’दा ने ना ही मर्दों ना ही औरतों को एक दूसरे पर हावी किया है शौहर और बीवी के हुकुक के तो कई अहादिस हैं। सबसे पहले हम उन बातों को जानेगें जिससे बीवी शौहर से बिना इजाज़त नहीं कर सकती है।

रोज़ा हमारे इ’स्लाम में काफी महत्वपूर्ण होता है एक होता है फर्ज़ रोज़ा और दुसरा नबील रोज़ा। फर्ज़ रोज़ा जो रमज़ान के मौके पर रखा जाता है। नफील रोज़ा के बारे में कई अहादिस हैं। अबुहुरैरा रजि़ अल्लाहु अनरसा से रिवायत है कि न’बी फर माते हैं कि अगर शौहर घर में मौजूद हैं तो कोई भी औरत उसके इजाज़त के बगैर नफील रोज़ा ना रखें।

एक हदीस में आया है कि मैं नबी की खिदमत में हाजिर हुआ और पुछा कि हम पर बीवी यों के क्या हुकुक है आप ने फ़र माया कि जैसा खाना तुम खाते हो वैसे ही अपनी बीवीयों को भी खिलाओ। जैसे कपड़े खुद पहनते हो वैसे ही कपड़े अपनी बीवियों को पहनाई। उन्हो इज़्ज़त से रखो ऊंची आवाज़ में ना बोलो गाली-गलौज ना करो। ना ही मा’र पी’ट करो।

खु’दा ने सभी तरह का तज़किरा कुरान में किया है जो सभी किताबो में अफ़ज़ल है और हर मुस लमान मोमीन इसे रोज पढ़ते हैं। जो हमारे प्यारे आका पर उतरा है। नबी ने फ़रमाया कि कुरा’न सिफारिश करने वाला है इसकी सिफारिश कुसुर की जाती है। जो शख्श इसे अपने सामने रखेगा तो इसको कु’रान पाक जन्नत की तरफ ले जाएगा। जो इसे अपने पीठ के पीछे रखेगा तो वो इसे जह’न्नुम में ले जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here